मंगलवार, 16 नवंबर 2010

संकल्प

स्वाधीन बनें,लोकोन्मुख हों,
हर पल अनुशासनबद्ध रहें /
कर्तव्यों और दायित्वों के
पालन के प्रति सनद्ध रहें /
मानवता पोषक मूल्यों का
संकल्पपूर्वक वरण करें /
वैज्ञानिक सोच-समझ रक्खें ,
आदर्शोन्मुख आचरण करें /
हो यही चेष्टा जीवन में
आगे-आगे बढ़ाते जाएँ /
अभुदय और निःश्रेयश के
सोपानों पर चढ़ते जाएँ //

      

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें